Bill gates biography & inspirational stories – बिल गेट्स का जीवन परिचय

Bill gates biography & inspirational stories – बिल गेट्स का जीवन परिचय- बिल गेट्स की सफलता की कहानी कई सारे लोगों को प्रेरणा देती है. किस तरह से बिल गेट्स ने एक छोटे से गेराज से अपना बिजनेस शुरू किया और वर्तमान में दुनिया के सबसे अमीर लोगों में गिने जाते हैं.

आज के हमारे इस लेख में हम बिल गेट्स के प्रेरणादायक जीवन के बारे में बात करने वाले हैं. बिल गेट्स ऐसे लोगों में गिने जाते हैं जिन्होंने अर्श से तर्श तक का सफर पूरा किया है. बिल गेट्स बचपन से ही एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहते थे. बिल गेट्स अमेरिका के एक बहुत बड़े बिजनेसमैन भी है, जो कंप्यूटर प्रोग्राम माइक्रोसॉफ्ट के को फाउंडर भी रहे थे. माइक्रोसॉफ्ट दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी मारी जाती है. कंप्यूटर उत्पाद बनाने वाली माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की शुरुआत वर्ष 1975 में हुई थी. तब से अभी तक बिल गेट्स ने इस कंपनी में अपना योगदान दिया है.

तो चलिए आज की हमारी इस लेख में हम जानते हैं, Bill gates biography & inspirational stories – बिल गेट्स का जीवन परिचय के बारे में

Bill gates biography & inspirational stories – बिल गेट्स का जीवन परिचय

बिल गेट्स दुनिया की सबसे मशहूर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के चेयरमैन, सीईओ और चीफ सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट रह चुके हैं. माइक्रोसॉफ्ट कंपनी दुनिया की सबसे मशहूर कंप्यूटर उत्पाद बनाने वाली कंपनी है. इस कंपनी की न्यू वर्ष 1975 में रखी गई थी. माइक्रोसॉफ्ट कंपनी पर्सनल कंप्यूटर की दुनिया में एक क्रांति का घोतक है. बिल गेट्स को दुनिया की कौन अरबपतियों में गिना जाता है जिन्होंने अपनी मेहनत और लगन से पूरी दुनिया में अपना नाम रोशन किया है.

वर्ष 1987 में जब माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के शेयर आसमान को छू रहे थे तभी से बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में शामिल है. सबसे पहले वर्ष 1987 में बिल गेट्स को दुनिया के अमीर आदमियों की लिस्ट में शामिल किया गया था. वर्ष 1995 से लेकर के 2007 तक यह दुनिया के सबसे अमीर आदमियों की सूची में रहे थे. आंकड़ों के मुताबिक इनकी कुल संपत्ति 90 बिलियन डॉलर के आसपास है.

बिल गेट्स का संक्षिप्त जीवन परिचय

बिल गेट्स का संक्षिप्त जीवन परिचय
पूरा नाम - विलियम हेनरी गेट्स
जन्मतिथि - 28 अक्टूबर वर्ष 1955
जन्म स्थान - सीटल, वाशिंगटन अमेरिका
पिता का नाम - विलियम एच गेट्स
माता का नाम - मेरी मैक्सवेल
पत्नी का नाम - मेलिंडा गेट्स
बहन का नाम - कृष्टि , लब्बि गेट्स
बच्चे - जेनिफर गेट्स, फोवे अडले, और रोरी जॉन गेट्स
विश्व प्रसिद्ध है - माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर के रूप में

बिल गेट्स का जन्म 28 अक्टूबर वर्ष 1955 को हुआ था. इनके माता का नाम मेरी मैक्सवेल था जो कि फर्स्ट इंटरेस्ट बैंक सिस्टम और यूनाइटेड वे की बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के रूप में कार्य कर रही थी. इनके पिता का नाम विलियम एच गेट्स है जो कि अमेरिका में वकील का कार्य करते थे. बिल की एक बड़ी बहन और एक छोटी बहन भी है. जिस वजह से उन्हें कम उम्र से ही प्रतिस्पर्धा के लिए प्रोत्साहित किया जाता रहा था.

बिल गेट्स ने वर्ष 1989 में, मलिंडा फ्रेंड से मिल रहे थे, जो उनकी उम्र से काफी छोटी थी. यह उनकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट में ही काम करती थी दोनों एक दूसरे से करीब आते गए जिसके बाद बिल गेट्स ने वर्ष 1994 में मलिंडा से शादी कर ली थी. मलिंडा से इनके तीन बच्चे हैं.

बिल गेट्स का आरंभिक जीवन एवं शिक्षा

बिल गेट्स बचपन से ही पढ़ने में काफी होनहार छात्र थे. इन्हें बचपन चाहिए एक पढ़ने वाला माहौल मिला था. 13 साल की उम्र में ही बिल गेट्स का दाखिला लेकसाइड स्कूल में करा दिया गया था. यहीं पर पढ़ते हुए बिल गेट्स के मन में कंप्यूटर की तरफ रुचि बढ़ती गई. 13 साल की उम्र में ही बिल गेट्स ने स्कूल के कंप्यूटर में खुद से एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम बनाया था.

बिल गेट्स जॉब अपनी हाई स्कूल पर पहुंचे तो तब इन्होंने अपने कुछ दोस्तों के साथ मिलकर के पैरोल प्रणाली को कंप्यूटराइज कर दिया था. यहीं से पता चलता है कि बिल गेट्स के दिमाग में बचपन से ही कंप्यूटर प्रोग्राम विद थे जो भगवान की तरफ से किसी गिफ्ट से कम नहीं था.

इनके दोस्त पौल एलेन के साथ मिलकर के बिल गेट्स ने आगे चलकर के बड़ा बिजनेस खड़ा किया. अपने स्कूल के समय मे पौल एलेन इनके सीनियर हुआ करते थे. अपने स्कूल के दिनों में ही दोनों ने मिलकर के यातायात काउंटर के लिए एक प्रोग्राम बनाया था. जो इंटेल 8000 प्रोसेसर पर आधारित था. जो बिल गेट्स नया प्रोग्राम बनाया था उस समय उनकी उम्र मात्र 17 साल थी.

वर्ष 1973 में बिल गेट्स ने अपनी हाईस्कूल की परीक्षा पास कर ली थी और इसके बाद एस ए टी की परीक्षा में स्कॉलर बने थे. इस परीक्षा में उन्हें कुल 1600 अंकों में से 1590 अंक मिले थे. इसके बाद बिल गेट्स हावर्ड विश्वविद्यालय में पढ़ने चले गए जहां पर इन्होंने ज्यादातर समय कंप्यूटर पर उसने प्रोग्रामिंग करते हुए बिताया. कंप्यूटर और प्रोग्रामिंग के अलावा बिल गेट्स का ध्यान अन्य विषयों पर अत्यधिक नहीं रहता था. इसी दौरान उनके सहपाठी जा रहे उनके सीनियर छात्र एलेन पौल ने उन्हें बिजनेस शुरू करने की सलाह दी थी. इसी के बाद दोनों ने मिलकर के माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की नींव रखी थी.

बिल गेट्स और माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की स्थापना

बिल गेट्स और उनके दोस्त एलन पोल ने मिलकर के वर्ष 1975 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की स्थापना की थी. उस दौरान इस कंपनी को दो अलग नामों से विभिन्न करके जाना जाता था. माइक्रो – सॉफ्ट यही इसका आरंभिक नाम था.

बिल गेट्स और उनके दोस्त एलेन पौल ने मिलकर के सबसे पहले बेसिक (Basic) नाम से प्रोग्रामिंग की शुरुआत की थी जो कि माइक्रो कंप्यूटर की प्रसिद्धि प्रोसेसिंग लैंग्वेज है. यह प्रयोग सफल रहा और जिसके बाद उन्होंने दूसरे सिस्टम के लिए प्रोसेसिंग लैंग्वेज ज ब्लॉक करना शुरू कर दिया था. थोड़े ही समय में बिल गेट्स की कंपनी माइक्रोसॉफ्ट सफलता की सीढ़ियां चढ़ने लगी और 5 साल से कम समय में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी लोगों की नजर में आने लगी थी.

माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की सफलता को देखते हुए दुनिया की दिग्गज कंपनी ने वर्ष 1980 इंटरनेशनल बिजनेस मशीन (IBM) द्वारा एक बिल ऑफर किया गया. जिसमें उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट से कहा कि वह उनके लिए पर्सनल कंप्यूटर के लिए बेसिक प्रोग्रामिंग लिखें. उसके बाद माइक्रोसॉफ्ट ने आईबीएम कंपनी के लिए DOS पर आधारित पहली ऑपरेटिंग सिस्टम बना करके दी थी. जिसके बदले में आईबीएम ने एक समय की फीस $50000 दी थी.

जल्द ही माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम पूरी दुनिया में मशहूर हो गया था जिसके बाद 20 नवंबर 1985 को बिल गेट्स की कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने Windows नाम के एक ऑपरेटर वातावरण को दुनिया के सामने प्रस्तुत किया. इसके बाद विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम ने पूरी दुनिया पर कब्जा कर लिया. आज वर्तमान समय में जितने भी पर्सनल कंप्यूटरों का इस्तेमाल किया जाता है उसमें 90% विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम पर ही कार्य करते हैं.

माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने बहुत ही जल्द यह सफलता हासिल कर ली थी. इसके बाद माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के सबसे बड़े शेयर होल्डर बिल गेट्स बन गए थे. जिसके बाद इसका फायदा बिल गेट्स को मिलता रहा और बिल गेट्स को इस कंपनी से बड़ी राशि भी मिलती रही. इसी वजह से माइक्रोसॉफ्ट के शेयर भी आसमान छूने लगे और वर्ष 1987 में पहली बार बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर आदमियों में शामिल हो गए. इस समय माइक्रोसॉफ्ट कंपनी को बने मात्र 11 साल हुए थे.

[su_box title=” बिल गेट्स को मिले पुरस्कार एवं सम्मान ” style=”default” box_color=”#008000″ title_color=”#FFFFFF” radius=”” class=”” id””]

  • वर्ष 2002 में बिल गेट्स और उनकी पत्नी मेलिंडा को सामाजिक कार्य के लिए ” जेफरसन अवार्ड” से सम्मानित किया गया.
  • वर्ष 2010 में बिल गेट्स को माइक्रोसॉफ्ट से मिली सफलता और उनके परोपकारी कार्य के लिए फ्रैंकलीन इंस्टीट्यूट द्वारा ” बोवेर अवार्ड” से सम्मानित किया गया था.
  • बिल गेट्स और उनकी पत्नी के नाम से एक फाउंडेशन और एनजीओ भारत में भी कार्यरत है. जिसके द्वारा यह यहां के गरीबों के लिए कार्य करते हैं इस महान कार्य के लिए बिल गेट्स और उनकी पत्नी मलिंडा को वर्ष 2010 में भारत सरकार द्वारा तीसरे सबसे बड़े सम्मान ” पदम भूषण” से सम्मानित किया जा चुका है.

Leave a Comment