Computer Input and Output Device – कंप्यूटर इनपुट और आउटपुट डिवाइस

Computer Input and Output Device – कंप्यूटर इनपुट और आउटपुट डिवाइस- का इस्तेमाल हम कंप्यूटर में डाटा को ट्रांसफर और डाटा को संशोधित करके उसका प्रयोग करने में करते हैं. आज हम अपने इस लेख में ही जानेंगे कि कंप्यूटर का आउटपुट और इनपुट डिवाइस क्या होता है?

[su_button url=”https://hindiw.com/computer-and-technology-in-hindi/” target=”self” style=”default” background=”#008000″ color=”#FFFFFF” size=”3″ wide=”no” center=”no” radius=”auto” icon=”” icon_color=”#FFFFFF” text_shadow=”none” desc=”” download=”” onclick=”” rel=”” title=”” id=”” class=””] कंप्यूटर संबंधित अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए यहां पर क्लिक कर सकते हैं [/su_button]

Computer Input and Output Device – कंप्यूटर इनपुट और आउटपुट डिवाइस

कंप्यूटर का इनपुट डिवाइस क्या है? What is Input Device

हमें कंप्यूटर में डाटा (Data)का संचार करने के लिए के लिए इनपुट और आउटपुट (I/O Device) की आवश्यकता होती है. यह डिवाइस हार्डवेयर डिवाइस होते हैं जिसे इनपुट आउटपुट या अन्य संसाधित डाटा को स्वीकार करने की क्षमता होती है.

कंप्यूटर हार्डवेयर डिवाइस को उपयोगकर्ता द्वारा देखा और छुआ जा सकता है. इन इनपुट और आउटपुट डिवाइस में हार्डवेयर उपकरण के उपयोग से कंप्यूटर के लिए डाटा प्राप्त करना और उन्हें स्टोरेज मीडिया के रूप में स्टोर करना और पुनः प्राप्त करने की प्रक्रिया बहुत ही आसान बना देती है.

किसी भी कंप्यूटर के कंप्यूटर सिस्टम में मूल और अवश्य भागों में एक कंप्यूटर हार्डवेयर में कम्युनिकेशन बस, पार्ट्स, पोर्ट्स (Ports) इनपुट डिवाइस, आउटपुट डिवाइस आदि शामिल होते हैं.

कंप्यूटर के इनपुट डिवाइस को Electro Mechanical डिवाइस के रूप में भी डिफाइन कर सकते हैं. जब कोई यूजर कंप्यूटर में डाटा इनपुट करने में मदद करती है जैसे कीबोर्ड की सहायता से keystrokes करके और माउस के साथ क्लिक करके हम कंप्यूटर में डाटा या जानकारी इनपुट करते हैं. इस तरीके से हम जानकारी या डाटा को मुख्य मेमोरी में उसको और करते हैं. इस तरह से के उपयोगकर्ता से निर्देश स्वीकार करते हैं और स्वीकृत निर्देश को मशीनी भाषा में परिवर्तित करके उसे स्टोर करती है.

कुछ इनपुट डिवाइस के उदाहरण निम्नलिखित है?

[su_box title=” 1. Keyboard इनपुट डिवाइस   ” style=”default” box_color=”#008000″ title_color=”#FFFFFF” radius=”” class=”” id=””]

Input Device
इनपुट डिवाइस

यह एक इनपुट डिवाइस होता है जिसमें यूजर को वर्णमाला (Alphabet)., संख्या (Number), और अन्य वर्णों (Character) को इनपुट करने की अनुमति देता है. एक प्रकार का बोर्ड होता है जिसमें बटन होते हैं जिसके द्वारा कीबोर्ड के बटन ओं को दबा कर के हम जानकारियां डाटा को कंप्यूटर में स्थानांतरण करते हैं.

[su_note note_color=”#008000″ text_color=”#FFFFFF” radius=”3″ class=”” id=””] कंप्यूटर कीबोर्ड को दो प्रकार में बांटा गया है [/su_note]

  1. General Purpose Keyboard
  2. Special Purpose Keyboard

सामान्य तौर पर किसी भी कंप्यूटर कीबोर्ड में निम्नलिखित कुंजियां होती है.

  • Alphanumeric Keys :- इसमें अक्षर और संख्याएं शामिल होती है.
  • Punctuation Keys :- इसमें अल्पविराम, अवधि, अर्धविराम आदि और विशेष कुंजी शामिल होते हैं. इस चलते इन्हें फंक्शन कुंजियां (Function keys) भी होते हैं जैसे कि नियंत्रण कुंजियां, तीर कुंजियां, कैप्स लॉक कुंजियां आदि.

[su_box title=” 2. Mouse इनपुट डिवाइस   ” style=”default” box_color=”#008000″ title_color=”#FFFFFF” radius=”” class=”” id=””]

Mouse input device
Mouse Input device

माउस एक छोटा इनपुट डिवाइस होता है जिसका उपयोग स्क्रीन पर एक विशेष स्थान पर पॉइंट करने तथा नेविगेशन(Navigation) करने के लिए किया जाता है. इसका इस्तेमाल एक या एक से अधिक कार्यों को चयन करने के लिए भी किया जाता है. जैसे कि मेनू कमांड (Menu Command), प्रोग्राम शुरू करने, आदि का चयन करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है.

[su_box title=” 3. Trackball इनपुट डिवाइस   ” style=”default” box_color=”#008000″ title_color=”#FFFFFF” radius=”” class=”” id=””]

ट्रैकबॉल एक अस्थाई डिवाइस पर घुमाई जाने वाला गेंद होता है, जो उंगलियों का उपयोग करके मैनुअल रूप से घुमाया जा सकता है. यह एक प्रिंटिंग डिवाइस होती है. यह भी है कि इनपुट डिवाइस है और इसका इस्तेमाल वीडियो गेम आदि खेलने के लिए किया जाता है.

[su_box title=” 4. Joystick इनपुट डिवाइस   ” style=”default” box_color=”#008000″ title_color=”#FFFFFF” radius=”” class=”” id=””]

जॉय स्टिक एक इनपुट डिवाइस है जो एक खड़ी छड़ी जैसी आकृति वाला डिवाइस होता है. जिसकी सहायता से हम परिसर को किसी भी दिशा में घुमा सकते हैं. आमतौर पर इसके शीर्ष पर एक बटन होता है जिसका उपयोग करें सर द्वारा इंगित किए गए विकल्प का चयन करने के लिए किया जाता है. जॉय स्टिक को मुख्य रूप से वीडियो गेम, प्रशिक्षण सिमुलेटर और रोबोट को नियंत्रण करने के लिए उपयोग किए जाने वाले एक इनपुट डिवाइस के रूप में उपयोग किया जाता है.

[su_box title=” 5. Light Pen इनपुट डिवाइस   ” style=”default” box_color=”#008000″ title_color=”#FFFFFF” radius=”” class=”” id=””]

लाइट पेन एक electro-optical पॉइंट डिवाइस होती है. जिसका इस्तेमाल हम ड्रॉइंग, ग्राफिक्स और मेनू चयन के लिए किए करते हैं. पैन में एक छोटी ट्यूब में एक फोटो सेल होता है. इसमें लगे हुए फोटो सेल के द्वारा यह लाइट को सेंड कर सकती है. और जगजीत स्क्रीन के करीब आता है तब यह एक पल्स (Pluse) उत्पन्न करता है. इसका उपयोग विशेष रूप से पर्सनल डिजिटल असिस्टेंट में किया जाता है. यह स्क्रीन पर एक विशिष्ट स्थान की पहचान करने में बहुत उपयोगी होती है. हालांकि स्क्रीन के किसी अतिरिक्त भाग पर या किसी भी तरह की जानकारी प्रदान नहीं कर सकता है.

[su_box title=” 6. Barcode Reader इनपुट डिवाइस   ” style=”default” box_color=”#008000″ title_color=”#FFFFFF” radius=”” class=”” id=””]

बारकोड रीडर को भी एक इनपुट डाटा डिवाइस के रूप में उपयोग किया जाता है. दुकानों और बड़े-बड़े मॉल्स में अधिकांश उत्पाद पर बारकोड लगा हुआ होता है. बारकोड रीडर के द्वारा बारकोड लाइनों पर प्रकाश की बीम मारकर बारकोड में मौजूद डाटा का पता लगाया जाता है.

[su_box title=” 7. Biometric Sensor इनपुट डिवाइस   ” style=”default” box_color=”#008000″ title_color=”#FFFFFF” radius=”” class=”” id=””]

बायोमैट्रिक सेंसर
बायोमैट्रिक सेंटर

यह भी एक इनपुट डिवाइस होती है जो व्यक्ति के शरीर या व्यवहारिक लक्षणों को बायोमेट्रिक सेंसर के द्वारा पहचाना जाता है. इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से सुरक्षा उद्देश्यों के लिए और संस्थाओं में कर्मचारी और छात्रों की उपस्थिति के लिए उपयोग में लिया जाता है. क्योंकि बायमैट्रिक्स सेंसर सटीकता के साथ काम कर रहे हैं. इसलिए इन्हें सुरक्षा उद्देश्य में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है.

इन सभी चीजों के अलावा भी बहुत सारे इनपुट डिवाइस है इनका इस्तेमाल हम दिन प्रतिदिन के कामों में करते हैं. जैसे कि स्केनर (Scanner), वेबकैम, माइक्रोफोन इत्यादि.

कंप्यूटर का आउटपुट डिवाइस क्या है? – What is Output Device

आउटपुट डिवाइस (Output device) कंप्यूटर हार्डवेयर का एक मुख्य हिस्सा होती है. जब हम कंप्यूटर को इनपुट डिवाइस के द्वारा जो इनपुट देते हैं वह डाटा प्रोसेसिंग के बाद हमें जो परिणाम मिलता है उसका रिजल्ट हम आउटपुट डिवाइस के माध्यम से प्राप्त करते हैं. मनुष्य के लिए सबसे अधिक कंप्यूटर डाटा आउटपुट ऑडियो या वीडियो के रूप में है.

इस प्रकार मानव द्वारा उपयोग किए जाने वाले अधिकांश आउटपुट डिवाइस (Output Device) इसी श्रेणी में आते हैं. जैसे कि मॉनिटर, प्रोजेक्टर, स्पीकर हेडफोन और प्रिंटर शामिल है. हम आउटपुट को कंप्यूटर के मॉनिटर पर देख सकते हैं इसी प्रकार स्पीकर के माध्यम से सुन सकते हैं और प्रिंटर के माध्यम से हम इसे प्रिंट भी कर सकते हैं. चलिए फटाफट कुछ आउटपुट डिवाइस के उदाहरण जान लेते हैं.

[su_box title=” 1. Monitor आउटपुट डिवाइस   ” style=”default” box_color=”#008000″ title_color=”#FFFFFF” radius=”” class=”” id=””]

कंप्यूटर के इनपुट डिवाइस के माध्यम से जो भी जानकारी या डाटा कंप्यूटर पर डालते हैं. इसका परिणाम हमें कंप्यूटर के मॉनिटर पर दिखाई देता है. इसी वजह से मॉनिटर को एक आउटपुट डिवाइस की श्रेणी में रखा जाता है.

कंप्यूटर मॉनिटर आउटपुट डिवाइस
कंप्यूटर मॉनिटर

मॉनिटर एक्टिव इसलिन के समान होती है और जानकारी प्रदर्शित करने के लिए कैथोड रे ट्यूब (Cathode Ray Tube) का उपयोग करती है. मॉनिटर सीपीयू के साथ मैनुअल जुड़ा हुआ होता है और जानकारी को प्रदर्शित करता है. जैसे कि हम जानते हैं कि यह प्रोग्राम जा एप्लीकेशन आउटपुट को भी प्रदर्शित करता है टेलीविजन की तरह, मॉनिटर विभिन्न आकारों में भी उपलब्ध होते हैं.

Liquid Crystal Display एलसीडी को बर्ड्स 1970 के दशक में पेश किया गया था और कम ऊर्जा खपत इसका लाभ और छोटा और हल्का आकार का होने के कारण इसे पोर्टेबल कंप्यूटर जैसे कि लैपटॉप इत्यादि ओं में इनका इस्तेमाल किया जाता था.

Light Emitted Diode (LED) इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होती है जो प्रकाश का उत्सर्जन करता है. जब विद्युत प्रवाह उस के माध्यम से होकर के गुजरती है. यह लाइट पैदा करता है. एलईडी आमतौर पर लाल बत्ती का उत्पादन करती है लेकिन आज करके एलईडी लाल, हरा और नीला प्रकाश और साथ में सफेद रोशनी भी पैदा कर सकती है.

[su_box title=” 2. Printer आउटपुट डिवाइस   ” style=”default” box_color=”#008000″ title_color=”#FFFFFF” radius=”” class=”” id=””]

प्रिंटर का इस्तेमाल मुख्य रूप से सॉफ्ट कॉपी (Soft Copy ) से हार्ड कॉपी में बदलने के लिए किया जाता है. इसमें प्रयुक्त तकनीकी के आधार पर पुणे इंपैक्ट या नॉन इंपैक्ट प्रिंटर में वर्गीकृत किया जा सकता है.

कंप्यूटर प्रिंटर
प्रिंटर कंप्यूटर

इंपैक्ट प्रिंटर टाइपराइटिंग प्रिंटर तंत्र का प्रयोग करते हैं जिससे एक हथोड़ा आउटपुट उत्पादन के लिए एक करीबन के माध्यम से पेपर पर हमला करता है. डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर इसी श्रेणी में आते हैं. नॉन इंपैक्ट प्रिंटर कागज छपाई करते समय पेपर नहीं छूते बल्कि मीका गज पर प्रतीकों को लाने के लिए रसायनिक, गर्मी या विद्युत संकेतों का प्रयोग करते हैं. इस तरह की प्रिंटर श्रेणी में Inkjet Printer, Leaser Printer, Thermal Printer इत्यादि आते हैं.

इसके अलावा भी बहुत सारे ऐसे आउटपुट डिवाइस है जिनका इस्तेमाल है दिन प्रतिदिन की चीजों के लिए करते हैं. जैसे कि प्रोजेक्टर, लाउडस्पीकर, प्लॉटर इत्यादि.

Leave a Comment