Sanjeev Kapoor Chef Inspirational Story – संजीव कपूर की प्रेरणादायक कहानी

भारतीय संस्कृति और रीति रिवाज के अनुसार भोजन बनाना महिलाओं का कार्य है. लेकिन इस धारणा को Sanjeev Kapoor ने तोड़ा है. लेकिन वही अगर आप तो विश्व का इतिहास उठा कर देखिए तो सबसे प्रसिद्ध खानसामा (Chef) पुरुष का नाम ही आगे है.

Sanjeev Kapoor inspirational Story

आज के हमारे इस लेख में हम Sanjeev Kapoor Chef के जीवन के बारे में जानेंगे. यह एक ऐसे शख्स है जिनका जीवन कई सारे लोगों को प्रेरणा देती है.

Sanjeev Kapoor Chef Inspirational Story – संजीव कपूर की प्रेरणादायक कहानी

संजीव कपूर (Sanjeev kapoor) एक भारतीय सेलिब्रिटी, खानसामा ( रसोईया) उद्यमी लेखक और टेलीविजन के व्यक्तित्व है. इनका जन्म 10 अप्रैल 1964 के दिन हुआ था.

इनका जन्म स्थान अंबाला, हरियाणा ( भारत) है. हरियाणा पहले पंजाब का भाग था. इस कुशल खानसामा ने अपनी शुरुआती पढ़ाई सेंट थॉमस स्कूल मेरठ से की है.

उसके बाद वह केंद्रीय विद्यालय, पंजाब रेजिमेंटल सेंटर, मेरठ कैंट में दाखिला लिया. उन्होंने सेंट मैरी अकादमी सहारनपुर गवर्नमेंट मॉडल स्कूल, नई दिल्ली से अभ्यास किया है. संजीव कपूर ने IHM – इंस्टिट्यूट ऑफ़ होटल मैनेजमेंट पूसा, कैटरिंग टेक्नोलॉजी और अप्लाइड न्यूट्रिशन नई दिल्ली से होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई पूरी की है.

साल 1993 में उन्होंने टीवी शो “Khana Khazana” से टेलीविजन इंडस्ट्री में डेब्यू किया था. भारत के Top Chef की सूची बनेगी तो उसमें Sanjeev kapoor पहले तीन स्थानों में बड़ी आसानी से स्थान बना लेंगे. कई सारे लोगों ने इनके टीवी शो देख कर के खाना बनाना सिखा है.

Sanjeev Kapoor in Television Show – संजीव कपूर का बिजनेस कैरियर (TV जगत)

संजीव कपूर का नाम भारत के 3 सबसे बढ़िया खाना समा की सूची में आता है. इस प्रतिभाशाली खानसामा ने अपनी कुकिंग स्टाइल से लाखों-करोड़ों लोगों का दिल जीता है.

इन्होंने अपनी प्रोफेशनल कैरियर की शुरुआत Cook Smart, Master Chef India और Khana Khazana जैसे कुकिंग शो और कॉन्टेस्ट हॉर्स करके किया था.

बहुत सारे लोग इस बात से अनजान होंगे कि Zee Tv पर प्रसारित होने वाली तो खाना खजाना का नाम पहले ” श्रीमान बावर्ची” रखा गया था. जिसे बाद में संजीव कपूर की सलाह के अनुसार ” खाना खजाना’ कर दिया गया था.

कुकिंग फील्ड से वास्ता रखने वाले इस सेलिब्रिटी ने इसके अलावा भी टीवी शो किए हैं. नृत्य प्रोग्राम “झलक दिखला जा” मैं भी उन्होंने भाग लिया था. इसके अलावा डिस्कवरी कम्युनिकेशन ने अपने भारतीय संगठन के माध्यम से चैनल में एक बड़ा हिस्सा भी दिया.

संजीव कपूर और उनकी पत्नी एल्योना कपूर ने संयुक्त रुप से T. V. P.L – टर्मरिक विजन प्राइवेट लिमिटेड की शुरुआत की थी. संजीव कपूर ने अपने कैरियर की शुरुआत में कई होटल में काम किया है. उसके बाद वह मुंबई में ” संटोरा होटल” के कार्यकारी Chef भी रहते थे. वर्तमान समय में संजीव कपूर एशिया के सबसे बेहतरीन Chef के रूप में भी जाने जाते हैं.

Interesting Facts about Sanjeev Kapoor – संजीव कपूर से जुड़े कुछ मजेदार तथ्य

  • खाना बनाने में संजीव कपूर के पसंदीदा मसालों की बात करें तो जीरा, लॉन्ग, काली मिर्च और इलाइची ऐसा मसाले उन्हें बेहद ही पसंद है.
  • संजीव कपूर बचपन से ही एक ब्राइट स्टूडेंट थे. अपने स्कूल के समय से ही वह हमेशा अपनी कक्षा में टॉप 5 पर रहते थे.
  • संजीव कपूर एक डॉक्टर बनना चाहते थे. इसलिए उन्होंने अपनी हायर सेकेंडरी की शिक्षा में बायोलॉजी सब्जेक्ट चुना था.
  • संजीव कपूर को उनके एक दोस्त ” जसमीत सिंह” ने होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने की सलाह दी. इस निर्णय से उनके आज जीवन बदल गया.
  • उन्होंने IDTC – Indian Tourism Development Corporation से अपनी होटल मैनेजमेंट ट्रेनी प्रोग्राम पूरा किया है.
  • साल 2001 में पहला ” यल्लो मिर्ची” रेस्टोरेंट शुरू किया. वर्तमान समय में देश भर में इस नाम से इनके कई सारे रेस्टोरेंट है. इस होटल का मेनू संजीव कपूर द्वारा तैयार किया गया है.
  • साल 2002, वर्ष 2004, वर्ष 2010 टेलीविजन पर प्रसारित होने वाले शो खाना खजाना को Best Cookry show का अवार्ड मिला है.
  • साल 2010 में उन्होंने ” खाना खजाना” नाम से एक पुस्तक भी लांच की है. यह एक रेसिपी बुक थी. इसके अलावा उन्होंने ट्यूटोरियल सीडी भी तैयार की जिसमें सरल तरीके से खाना बनाना सिखाया जाता था.
  • साल 2011 में संजीव कपूर ने खुद को एचडी चैनल ” फूड फोंड” शुरू किया. जिसमें से सभी तरह की रेसिपी बनाना के कार्यक्रम चलाए जाते थे.
  • साल 2011 में संजीव कपूर भारत के ” किचन ब्रांड सिल्क किचन” के ब्रांड एंबेसडर बने.
  • साल 2013 में वह ” किचन खिलाड़ी” नामक शो के जज बने. इस कार्यक्रम का प्रसारण सोनी चैनल पर किया गया था.
  • साल 2017 में भारत सरकार की ओर से इन्हें पदम श्री सम्मान भी मिल चुका है.
  • सिंगापुर एयरलाइंस ने संजीव कपूर को अपने इंटरनेशनल पाक पैनल में जगह दी है. वर्तमान समय में संजीव कपूर इंटरनेशनल लेवल के रेस्टोरेंट सलाहकार माने जाते हैं. भारत के लिए यह बड़ी ही गौरवपूर्ण बात है.

Personal Life of Sanjeev Kapoor – संजीव कपूर का व्यक्तिगत जीवन

संजीव कपूर को अलग-अलग लजीज पकवान बनाने के अलावा घूमने-फिरने का भी काफी शौक है. उनका पसंदीदा पर्यटन स्थल न्यूजीलैंड है. वह सुपरस्टार अमिताभ बच्चन के बहुत बड़े फैन हैं. इस प्रसिद्ध खानसामा को खुद खाने में पानी पुरी और बंगाली संदेश बेहद पसंद है.

संजीव कपूर की पत्नी का नाम एल्योना कपूर है. इस दंपत्ति को दो पुत्री है. जिनमें एक बेटी का नाम कृती और दूसरी बेटी का नाम रचिता है. यह खानसामा शराब और धूम्रपान से हमेशा दूरी बनाकर रखते हैं.

जीवन में आप चाहे कोई भी काम करें, अगर आप अपना काम दिल लगा कर पूरी मेहनत के साथ करते हैं तो, दुनिया आपको सर आंखों पर बिठा लेगी : – संजीव कपूर

Award & Achievement – पुरस्कार और सम्मान

  • भारत सरकार की ओर से संजीव कपूर को “Best Chef of India” से सम्मानित एवं पुरस्कृत भी किया जा चुका है.
  • संजीव कपूर का शो ” खाना खाजाना” टीवी पर 13 साल तक चलाया गया था.
  • इस शानदार शो को टेलीकास्ट 120 देशों में किया जाता था.
  • संजीव कपूर “Sweekaar Advanced” सनफ्लावर ऑयल के ब्रांड एंबेसडर हैं.
  • साल 2010 में उन्हें 100 मोस्ट ट्रेंडिंग पर्सनैलिटी की सूची में 31 वां स्थान मिला था.
  • साल 2011 में “How To Cook Indian” किताब के लिए समर कुक बुक ऑफ द ईयर का अवार्ड दिया गया है.
  • संजीव कपूर की कुल संपत्ति 2 बिलियन डॉलर के आसपास आंकी जाती है.

विचारधारा – Ideology संजीव कपूर से जुड़ी

  • संजीव कपूर का मानना है कि बिना असफलता का स्वाद चखे, सफलता का स्वाद नहीं चखा जा सकता है. वह मानते हैं कि, हर किसी की तरह उन्होंने भी अच्छे और बुरे दिन दोनों देखे हैं. हर एक कठिनाई से कुछ ना कुछ सीख लेते हुए अपने व्यक्तित्व और कार्यशैली में सुधार किया है. शायद अपने इन्हीं अनुभव ने उन्हें सही आकार दिया और सफलता का धनी बनाया है.
  • खाना खजाना टीवी शो की अपार सफलता के रहस्य की बात मुझसे कई लोगों ने पूछी है. मैं बस अपना काम सरल तरीके से करता हूं, अपने passion को फॉलो करता हूं. बाकी लोग अपने आप जुड़ते गए और काम सफल होता गया
  • खानसामा बनने के लिए मेरी प्रेरणा मेरा भोजन के प्रति प्रेम ही है. शुरुआती दिनों में मैं भी डॉक्टर आर्किटेक्ट वगैरा बनने के सपने देखता था. लेकिन जब इस फील्ड में मेरा इंटरेस्ट ज्यादा तो मेरा कैरियर लक्ष्य निर्धारित हो गया.
  • मुझे कई बार एक बात सुनने में आती है ” Man Can’t Cook Well”, मैं इस सोच से बिल्कुल संभव नहीं रखता हूं. जब से मैंने इस कुकिंग इंडस्ट्री में कदम रखा है, मेरी इर्द-गिर्द कई ऐसे फेमस बुक मुझे मिले हैं जो अच्छे कुक है और पुरुष भी है.

Leave a Comment