What is Motherboard in Hindi – मदरबोर्ड क्या है?

What is Motherboard in Hindi – मदरबोर्ड क्या है? – मदरबोर्ड कंप्यूटर के एक प्रमुख उपकरण के रूप में जाना जाता है. मदरबोर्ड को अन्य नाम जैसे कि मेन सर्किट बोर्ड, मेन बोर्ड, सिस्टम बोर्ड इत्यादि नाम से भी जाना जाता है. मदरबोर्ड केवल कंप्यूटर में ही नहीं बल्कि आजकल के स्मार्टफोन में भी मौजूद होता है. इन्हें लॉजिक बोर्ड भी कहा जाता है.

कंप्यूटर के आविष्कार के बाद से, मदरबोर्ड किसी भी कंप्यूटर का एक अहम एवं प्रमुख हिस्सा है. हालांकि पुराने समय में इस्तेमाल होने वाले मदर बोर्ड में सिर्फ कुछ खास कंपोनेंट ही होते थे. लेकिन जैसे-जैसे तकनीकी सुधार होते गए मदरबोर्ड को और भी बेहतर और अत्याधुनिक बनाया गया. आज हमारी इस लेख में हम जानेंगे कि What is Motherboard in Hindi – मदरबोर्ड क्या है?

What is Motherboard in Hindi – मदरबोर्ड क्या है?

मदरबोर्ड कंप्यूटर का एक अभिन्न अंग होता है. मदरबोर्ड को अन्य भाषा में मेन सर्किट बोर्ड (main circuit board), main board, system board, baseboard और logic board भी कहा जाता है.

जबसे कंप्यूटर का आविष्कार हुआ है मदरबोर्ड कंप्यूटर का एक अहम हिस्सा है. मदरबोर्ड कंप्यूटर में मौजूद एक मेन प्रिंटेड सर्किट(main printed circuit board) बोर्ड होता है. जो विभिन्न आंतरिक उपकरणों को आपस में दौड़ने और बाहरी उपकरणों को कंप्यूटर से जुड़ने के लिए सहायता प्रदान करती है.

इसे आप कंप्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण भाग मान सकते हैं. अगर आप मदरबोर्ड को ध्यान से देखेंगे तो आपको इस सर्किट बोर्ड में हरे रंग का एक सर्किट दिखाई देगा, जिसमें कंप्यूटर से संबंधित कई सारे इक्विपमेंट लगे हुए होते हैं.

इसी मदरबोर्ड के साथ में कंप्यूटर से संबंधित बहुत सारे इक्विपमेंट जैसे कि central Processing Unit (CPU), RAM, ROM, hard disk, input and output device, USB device, इत्यादि जुड़े होते हैं. कंप्यूटर में मदरबोर्ड पावर सप्लाई करने से लेकर के हार्डवेयर कॉम्पोनेंट्स के बीच में कम्युनिकेशन करवाने तक का सारा काम मदरबोर्ड का ही होता है. कंप्यूटर में मौजूद उपकरण किसी ना किसी रूप से मदर बोर्ड से ही जुड़े हुए होते हैं. यही वजह है कि मदरबोर्ड को आप कंप्यूटर का एक अभिन्न हिस्सा मान सकते हैं.

मदरबोर्ड की कार्यप्रणाली – Function of Motherboard

मदरबोर्ड की कार्यप्रणाली - Function of Motherboard
कंप्यूटर के मदरबोर्ड पर कई सारे उपकरण लगे हुए होते हैं. यह उपकरण अलग-अलग कार्य को निष्पादित करते हैं. इन्हीं के आधार पर मदरबोर्ड के कार्यों को अलग-अलग भागों में बांटा गया है. जोकि निम्नलिखित है :-
कंप्यूटर पर Power supply - कंप्यूटर के अंदर बहुत सारे उपकरणों में बिजली या पावर की आपूर्ति का काम मदरबोर्ड का ही होता है. केबल की मदद से जिसे हम पावर कनेक्टर भी कहते हैं, मदद से बिजली मदरबोर्ड तक पहुंचती है. इसी के बाद बिजली कंप्यूटर के दूसरे उपकरणों तक पहुंचाई जाती है.
Central Backbone of computer - किसी भी कंप्यूटर में मदरबोर्ड को कंप्यूटर का रीड का हड्डी माना जाता है. ऐसा इसलिए क्योंकि किसी भी कंप्यूटर को चलाने के लिए उपकरण इसी मदरबोर्ड से जुड़े हुए होते हैं. जैसे कि RAM, ROM, hard disk, central Processing Unit, USB, input or output device, इत्यादि.
External peripherals को जोड़ने के लिए slot - मदरबोर्ड बाहरी उपकरण जिनमें इनपुट और आउटपुट डिवाइस शामिल होते हैं. इसके अलावा इन slot की मदद से network card, sound card, firewall card, इथरनेट कार्ड, इत्यादि चीजों को भी जोड़ा जा सकता है.
Control on Data flow - मदर बोर्ड से जुड़े सारे उपकरण के लिए संचार केंद्र के रूप में मदरबोर्ड कार्य करती है. इसके अलावा कंप्यूटर के भीतर सूचना के आदान-प्रदान के लिए भी मदरबोर्ड जिम्मेवार होता है. आसान शब्दों में कहा जाए तो मदरबोर्ड की मदद से हम डाटा या जानकारी को प्राप्त और भेज सकते हैं.
BIOS - Motherboard BIOS program को सुरक्षित रख सकता है, जोकि मदरबोर्ड पर ROM Chip पर मौजूद रहता है. यह प्रोग्राम कंप्यूटर सिस्टम की बूट प्रोसेस के लिए आवश्यक होते हैं.

Types of Motherboard – मदरबोर्ड कितने प्रकार के होते हैं?

जैसे-जैसे कंप्यूटर की तकनीकी में विकास होता गया वैसे-वैसे मदरबोर्ड की क्षमता एवं उसकी कार्य करने की ताकत भी बढ़ती चली गई. आज बाजार में बहुत सारे तरह के मदरबोर्ड उपलब्ध है. इनमें से कुछ मदरबोर्ड तो अधिक क्षमता वाले हैं तो कुछ मदरबोर्ड सामान्य प्रकार के होते हैं. तो चलिए जानते हैं कौन-कौन से मदरबोर्ड उपलब्ध है:-

  • AT Motherboard
  • ATX Motherboard
  • Mini ITx Motherboard

यह कुछ इतरा के मदरबोर्ड हैं जिनका इस्तेमाल आजकल के कंप्यूटर में किया जाता है. इसके अलावा भी बहुत से प्रकार के मदरबोर्ड होते हैं. लेकिन उनकी उपयोगिता काफी कम है. किन्हीं विशेष प्रकार के कंप्यूटर में ही उन मदरबोर्ड का इस्तेमाल होता है.

AT Motherboard कंप्यूटर पर इस्तेमाल होने वाली सबसे पुरानी मदरबोर्ड में गिनी जाती है. यहां पर AT का फुल फॉर्म “advanced technology” होता है. इस तरह के मदरबोर्ड में नई तकनीक के पावर कनेक्टर जुड़े हुए होते हैं. इस तरह के मदरबोर्ड में प्रत्येक माउंट में 6 पिन और 2 पावर कनेक्टर लगे हुए होते हैं. इस तरह के मदरबोर्ड का निर्माण वर्ष 1980 में आईबीएम कंपनी द्वारा किया गया था. इसके बाद ATX Motherboard बाजार में उतारा गया.

ATX Motherboard सफलता के चलते पुराना वाला मदरबोर्ड बाजार में नहीं चल पाया था उसने पूरी तरह से पुराने AT Motherboard को बाजार से हटा दिया था. वर्ष 1990 में इस तरह के मदरबोर्ड को इंटेल कंपनी द्वारा बनाया गया था. यहां मदरबोर्ड पहले वाले मदरबोर्ड से काफी अलग और काफी हद तक तेज गति से कार्य करने में सक्षम थी.

इस तरह के मदरबोर्ड में कई सारे बदलाव किए गए थे. इसमें कीबोर्ड के लिए कनेक्टर, एडवांस कंट्रोलर इसके अलावा कई सारे महत्वपूर्ण बदलाव भी किए गए थे.

Mini ITx Motherboard इस तरह के मदरबोर्ड का इस्तेमाल छोटे कंप्यूटर जैसे कि लैपटॉप इत्यादि चीजों में किया जाता है. इस तरह की मदरबोर्ड की खासियत यह थी कि यह बहुत ही कम बिजली की खपत करते हैं. इस तरह के मदरबोर्ड में मशीन को ठंडा रखने के लिए पंखों का इस्तेमाल भी नहीं होता है. इस चलते या बिजली की खपत कम करती है. कलेक्टर के रूप में इसमें केवल एक ही कनेक्टर होता है. सीधे तौर पर समझा जाए तो इस तरह के मदरबोर्ड का इस्तेमाल छोटे आकार के कंप्यूटर इत्यादि में अधिकतर किया जाता है.

Leave a Comment