What is server – सर्वर क्या है? सर्वर कैसे काम करती है?

What is server – सर्वर क्या है? आज हम बात करने वाले हैं कि सर्वर क्या है? इसका इस्तेमाल इंटरनेट की दुनिया में कैसे किया जाता है? कंप्यूटर टेक्नोलॉजी मे नेटवर्क सर्वर सब की शुरुआत आज से कई साल पहले की गई थी. इंटरनेट और कंप्यूटर की दुनिया में सर्वर की भूमिका क्या है? इन सभी पहलुओं के बारे में आज हम बात करेंगे.

कई बार आपने इस बारे में उन लोगों के मुंह से सुना होगा. नेटवर्क सर्वर डाउन था, इसी वजह से मैं एटीएम से या फिर बैंक से पैसे नहीं निकाल पाया. बैंक में आपको यह बात अक्सर सुनने में मिल जाती है. इस वजह से सरवर एक महत्वपूर्ण विषय हो सकता है. कई बार सर्वर डाउन होने की वजह से इंटरनेट पर आप इंटरनेट ब्राउज़र नहीं कर पाते हो. आज के हमारे इस लेख में हम लोग इंटरनेट सर्वर से जुड़ी हर पहलू के बारे में बात करने वाले हैं. What is server – सर्वर क्या है?

What is server – सर्वर क्या है?

सर्वर क्या है
सर्वर क्या है?
सर्वर कोई कंप्यूटर प्रोग्राम या डिवाइस होती है. जो अन्य कंप्यूटर को डाटा प्रदान करता है. यह किसी सिस्टम या कंप्यूटर को स्थानीय क्षेत्र नेटवर्क (local area Network) या इंटरनेट पर विस्तृत क्षेत्र नेटवर्क (Wide area Network) पर डाटा या जानकारी प्रदान कर सकता है. इस चलते हम सर्वर को नेटवर्क पर कंप्यूटर का एक हिस्सा भी मान सकते हैं. जोकि नेटवर्क रिसोर्स का प्रबंधन करता है.

Server को यह वजह से कई प्रकार में बांटा जा सकता है. इनकी कार्य भी अलग-अलग होते हैं. जैसे की फाइल सर्वर (file server) यह एक तरह का इंटरनेट पर सरवर होता है जहां पर आप फाइल को स्टोर या सेव करके रख सकते हैं.

इंटरनेट पर जितने भी फाइल मौजूद है वह फाइल सर्वर पर ही है. फाइल सर्वर एकरा का कंप्यूटर भी हो सकता है. जहां पर बहुत सारे फाइल का भंडारण होता है. चलिए हम इसे एक उदाहरण द्वारा समझते हैं. जैसे कि आप अभी हमारा यह आर्टिकल पढ़ रहे हैं. आपने यहां तक पहुंचने के लिए इंटरनेट पर जरूर कुछ ना कुछ सर्च किया होगा. इंटरनेट पर आपको सर्च इंजन पर लिंक मिली होगी. इस लिंक पर क्लिक करते ही इससे संबंधित जितने भी फाइल या डाटा आपके ब्राउज़र पर लोड हो जाता है. हमारे इस पेज में बहुत सी टेक्स्ट फाइल और इमेज फाइल इत्यादि है जो कि इंटरनेट सर्वर पर सेव है. कंप्यूटर से संबंधित जानकारी के लिए यहां पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं.

हमारी इस उदाहरण द्वारा आपको यह समझ में आ गया होगा कि फाइल सर्वर या वेब सर्वर क्या होता है? चलिए से समझने के लिए हम और एक उदाहरण देते हैं. इंटरनेट पर जितने भी सामग्रियां उपलब्ध है चाहे वह किसी भी वेबसाइट का website data, YouTube videos, photo, PDF file इत्यादि चीजें. जब आप इंटरनेट पर खोजते हैं तो यह सरवर फाइल से आपके ब्राउज़र पर डाउनलोड हो जाती है. यानी कि सरवर फाइल (server file) पर जानकारियां एवं डाटा को Save किया गया है. जिस वजह से आप फाइल को आसानी से एक्सेस कर पाते हो.

सर्वर कितने प्रकार के होते हैं?

कार्य करने के आधार पर सर्वर को बहुत सारी कैटेगरी में बांटा गया है. सर्वर कई प्रकार के होते हैं. इनकी एक सूची हम नीचे दे रहे हैं. इसके साथ ही इनका कार्य क्या है? इसके बारे में भी हम बता रहे हैं.

सर्वर कितने प्रकार के होते हैं?
इंटरनेट सर्वर को कई भागों में बांटा जा सकता है :-
  1. फाइल सर्वर (file server)
  2. डाटाबेस सर्वर (database server)
  3. वेब सर्वर (web server)
  4. प्रोक्सी सर्वर (proxy server)
  5. मेल सर्वर (mail server)
  6. एप्लीकेशन सर्वर (application server)
  7. एफटीपी सर्वर (FTTP server)

फाइल सर्वर (file server) क्या होता है?

फाइल सर्वर क्या होता है
फाइल सर्वर एक ऐसा सर्वर होता है, जो फाइल को मैनेज और उसका प्रबंधन करने का कार्य करती है. इसके साथ ही उपयोगकर्ता को फाइल शेयर करने की अनुमति भी देती है. आप इसेे एक कंप्यूटर स्टोरेज मान सकते हैं. जो की फाइल सर्वर से नेटवर्क के जरिए जुड़ााा होता है. जोकि शेयर डिस्क एक्सेस के लिए लोकेशन प्रदान करता है. यानी कि आप फाइलोंं का शेयर्ड स्टोरेज होता है. जहांं पर आप विभिन्न फाइलों को सरर पर स्टोर करके रखते हैं. जैसे कि डॉक्यूमेंट, साउंड फाइल, फोटो, वीडियो, डेटाबेस इत्यादिि चीजें. जिन्हें वर्क स्टेशन द्वारा एक्सेस और प्रबंधन कियाा जा सकता है।

डाटाबेस सर्वर क्या होता है?

डाटाबेस सर्वर एक तरह का कंप्यूटर सिस्टम होता है. जिसका इस्तेमाल डेटाबेस से जानकारी को एक्सेस और retrive करने के लिए किया जाता है. डेटाबेस के अंदर जानकारी प्राप्त करने के बाद यह यूजर द्वारा रिक्वेस्ट डाटा को आउटपुट देती है. इस तरह के डाटा बेस का इस्तेमाल वेबसाइट का डाटा और इंफॉर्मेशन को जमा करके रखने और उसका प्रबंधन करने के लिए किया जाता है. इस तरह कई सारी कंपनियां स्टोरेज के लिए डेटाबेस सर्वर का उपयोग करती है. उपयोगकर्ता से संबंधित क्वेरी लैंग्वेज का उपयोग कर डेटाबेस को एक्सेस करते हैं. डेटाबेस की उदाहरण SQL , Query language

वेब सर्वर (web server) क्या होता है?

वेब सर्वर क्या होता है  वेब सर्वर ऐसा इंटरनेट सर्वर होता है जो किसी भी वेबसाइट को चलाने मेंं सक्षम होता है. इसेेेेे आप एक तरह का कंप्यूट प्रोग्राम भी कह सकते हैं. इसकाा मुख्य कार्य किसी वेबपेज को स्टोर, प्रोसेस और डिलीवर करना होता है. वेब सर्वर से जुड़नेेे के लिए एचटीटीपी (HTTP- hypertext transfer protocol) का इस्तेमाल किया जाता है.
इंटरनेट पर जितनी भी सामग्रियां उपलब्ध है. यह सारी जानकारी एवं डाटा वेब सर्वर पर Save या संरक्षित होती है. वेब सर्वर, वेब ब्राउज़र की सहायता से उपयोगकर्ता को वेब सर्वर पर मौजूद फाइल साााझा करता है.

प्रोक्सी सर्वर (proxy server) क्या होता है?

प्रोक्सी सर्वर (proxy server) इंटरनेट उपयोगकर्ता को इंटरनेट के बीच में गेटवे (gateway) के रूप में कार्य करता है. जब कोई क्लाइंट प्रोक्सी सर्वर से जुड़ता है और किसी सेवा के लिए रिक्वेस्ट करता है. उदाहरण के लिए वेब पेज के लिए तैयार रिक्वेस्ट को सरल बनाने और उसकी जटिलता को प्रबंधन करने का मूल्यांकन करता है.
प्रोक्सी सर्वर नेटवर्क कनेक्शन, शेयरिंग, नेटवर्क डाटाा फिल्टरिंग और data caching करने केेेे लिए क्लाइंट के प्रोग्राम और एक्सटर्नल सवर के बीच में मध्यस्थाता की तरह काम करता है.

मेल सर्वर (mail server) क्या होता है?

मेल सर्वर का इस्तेमाल हम लोग ईमेल भेजने एवं प्राप्त करने के लिए कहते हैं. मेल सर्वर को mail server transfer agent या internet Mailer के नाम से भी जाना जाता है. हम जब भी कोई मेल भेजते हैं तो वह मेलसर्वर की एक श्रंखला से होकर गुजरती है. जब हमको ईमेल भेजते हैं तो यह तुरंत दूसरे तक पहुंच जाता है.

एप्लीकेशन सर्वर (application server) क्या होता है?

एप्लीकेशन सर्वर क्या होता है  एप्लीकेशन सर्वर एक तरह का फ्रेमवर्क होता है. यह एक तरह सेे ऐसी परिस्थिति बनाता है. जहां हम पर एप्लीकेशन को आसानी से चला सके. इसी वजह से किसी भी एप्लीकेशन सर्वर पर सर्वर ऑपरेटिंग सिस्टम और सर्वर हार्डवेयर होते हैं. जो एप्लीकेशन के लिए कंप्यूटिंग इंटेंसिव ऑपरेशन और सर्विस को मुहैया करवाती है. एप्लीकेशन सर्वर कई प्रकार के होते हैं जैसे कि PHP, Java, .net framework इत्यादि.

एफटीपी सर्वर (FTP server) क्या होता है?

इंटरनेट पर हजारों फाइलें हर दिन ट्रांसफर और शेयर की जाती है. इनमें से अधिकतर फाइल, फाइल ट्रांसफर प्रोटोकोल यानी कि एफटीपी (FTP- file transfer protocol) के जरिए की जाती है. इसका मुख्य कार्य फाइल ट्रांसफर करना होता है. जब आप वेब ब्राउज़र पर किसी वेब पेज की रिक्वेस्ट करते हैं, तो ब्राउज़र उसे वेब पेज को एफटीपी सर्वर से ट्रांसफर करके डाउनलोड करता है. वेब ब्राउज़र यह काम एफटीपी सर्वर की सहायता से करता है. यह दुनिया भर में किसी भी कंप्यूटर में से फाइल को ट्रांसफर करने का तरीका है. जो कि इंटरनेट से जुड़ा होता है.

सर्वर कैसे काम करता है?

इंटरनेट सर्वर के बारे में कार्यप्रणाली आपको थोड़ी बहुत ऊपर दिए गए जानकारी से समझ में आ गई होगी. सर्वर के बारे में जब भी जिक्र आता है तो बहुत सारे लोगों को इनके अवधारणा समझ में नहीं आती है. इसके साथ ही आ जाना भी जरूरी है कि सर्वर किस तरह से काम करती है. तो चलिए संक्षिप्त में हम इसके बारे में भी जान देते हैं.

इंटरनेट सर्वर कि काम करने की प्रक्रिया को हम चार भागों में बांट सकते हैं.

  1. Communicate to server
  2. Breaking the URL
  3. Converting server name to IP address
  4. Send and Receive request

Communicate to server :- मान लीजिए कि आप इंटरनेट पर किसी जानकारी को खोजते हैं. इसके लिए आप गूगल पर किसी चीज को खोजते हैं. या फिर आप सीधे अपने ब्राउज़र पर किसी वेबसाइट का URL टाइप करते हैं. उदाहरण के तौर पर आप हमारा ही वेबसाइट ले लीजिए, https://hindiw.com इस पूरी प्रक्रिया में आपका वेब ब्राउजर होस्ट सर्वर से कम्युनिकेट या रिक्वेस्ट करता है. जिसमें सर्वर पर मौजूद फाइल आपके ब्राउज़र पर अपलोड होती है.

Breaking the URL :- वेब ब्राउज़र पर वेबसाइट एड्रेस या यूआरएल डालने के बाद यह यूआरएल को तीन हिस्सों में बांट देता है. पहला प्रोटोकॉल (HTTP protocol) दूसरा server का नाम (https://hindiw.com) तीसरा फाइल का नाम.

Converting server name to IP address :- web browser पर ऊपर की प्रक्रिया होने के बाद वेब ब्राउज़र पर server का नाम को आईपी एड्रेस में बदला जाता है. जिस वजह से ही ब्राउज़र किसी सर्वर से जुड़ पाता है.

Send and receive request:- एक बार जब वे ब्राउज़र पर सर्वर अच्छी तरह से जुड़ जाती है तो ब्राउज़र आपकी रिक्वेस्ट को सर्वर तक पहुंचाता है. और आपके द्वारा खोजे गए फाइल की मांग करता है. जोकि वेब सर्वर पर एचटीएमएलडॉक्युमेंट के रूप में उपस्थित होती है. जिससे कि आप उस फाइल को अपने ब्राउज़र पर लोड करके देख पाते हो.

Leave a Comment